कविता : आजादी की बरसी पर (शैलेन्द्र कुमार शुक्ल)

आजादी की बरसी पर करिया अच्छर खुनियाय गये कागद आंसुन ते गये भीजि जे कलमइ फांसी दीहिन रहे बड़ नेता

Read more