अन्ना हजारे..जनता कै अदालत..‘जियौ बहादुर खद्दरधारी’(रफीक शादानी)..

हम चुनाव लड़ब तौ हारि जाब। जमानतौ जब्त होइ जाये। आज लोगै १०० रुपया, सराब कै बोतल, साड़ी अउर आन-आन

Read more